साल अट्ठारहवाँ

मै अपनी उम्र के अट्ठारहवें साल में ही था तब, मुझे ज़िंदगी ने बहुत बड़ा झटका दिया था उस वक़्त की उम्र से बहुत बड़ा झटका था मगर शायद उम्र ही कमज़ोर थी मैं नहीं, तभी तो ….पीठ पे गिटार लादे डैमेज़ जींस का दीवाना वो लड़का पाँच महीनें देश के जाने किस किस हिस्से […]

सलीका

गाँव की अल्हड़, मुँहज़ोर, ख़ुशगवार लड़की को पढ़े-लिखे सलीकेमंद…मर्द से इश्क़ हो गया वो दिन भर उसको सलीके की झिड़कियाँ देता और…रात भर सरसों के ख़ेत में उसके ज़िस्म से फूहड़ता से खेलता दिनों-दिन वो सलीके में धसती गई ताकि दिन में भी उसका वही प्यार दुलार पा सके…जो रातों में भीगे ख़ेतों को गर्म […]

डर

आज बातों ही बातों में बाबा से पूछा मरघट में मुर्दों के बीच उनको डर नहीं लगता? इतने आराम से वो कैसे रहते हैं मरघट में?बाबा ज़रा सा मुस्कुराये फिर बोले, “मुर्दे क्या कर लेंगे जो उनसे डर लगे”।मै बोला – तो लोग क्यूँ डरते हैं मुर्दों से, मरघट से।बाबा ने कहा ” असल में […]

वो लम्हें #hesitation #happiness

वो लड़का उस बला की हसीन लड़की से दिलो’जाँ से प्यार करता था, मगर दूर दूर से छुप के ख़ामोशी से। वो उसकी अदाओं के इंतिख़ाब में गुम रहता, घंटो पहरों सोचा करता वो अगर प्यार से कुछ कहती होगी तो कैसे कहती होगी। उसकी लरज़ती आवाज़ कभी नहीं सुना था मगर हमेशा महसूस कर […]

दिल से …. Nov.22

आज यूँही टीवी पे नज़र गई जाने कोई मूवी थी या सीरियल नहीं पता दृश्य और संवाद ने निगाह रोक दी…. किसी ऑफ़िस में कोई आदमी की सोच एक लड़के के चेहरे से बात कर रही थी, वो लड़का मासूमियत से कह रहा था “सिर्फ़ आप ही मुझे समझते हैं, वो चाहे करियर की बात […]

फक्कड़ी

“कई महीनों बाद किसी से मिला उनसे मिलना … मतलब ज़िंदादिली से मिलना खुशियों से मिलना। सबसे अलग सोच उनकी साकात्मक बातें श्रेष्ठ दृष्टिकोण” जिस शख़्सियत के ज़िक्र में ऊपर की लाईन लिखीं गईं हैं उन्हें शब्दों में ढ़ालना बहोत ही मुश्किल है, न काग़ज़ पूरा पायेगा न सियाही साथ दे पायेगी और ना ही […]

सालगिरह …. #एक_सफ़र 😘

After 14 missed calls ….. he picked her call – umm good morning GoodMorning 😘 मुबारक 😘😘😘 मुबारक….. मेरी good morning kissi Ammm wait …… 😘😘😘 अब ठीक है hmm… …आज पूरा एक साल हो गया ना हमारी मुहब्बत को, एक साल पहले आप मेरी आवाज़ सुनने के लिए बेचैन थे एक साल बाद मै […]